सर्वनाम किसे कहते हैं ?




आप जानते हैं सर्वनाम किसे कहते हैं ? तो आज हम आपको ” सर्वनाम किसे कहते हैं ” के बारे मैं जानकारी देने बाले हैं। जिससे आपको सर्वनाम किसे कहते हैं पता चलेगा। तो आइये जानते हैं “सर्वनाम किसे कहते हैं”

सर्वनाम किसे कहते हैं ?

सर्वनाम संज्ञाओं की पुनरावृत्ति को रोककर वाक्यों को सौंदर्ययुक्त बनाता है । नीचे लिखें वाक्यों को ध्यानपूर्वक देखें –

  • 1. पेड़ – पौधे प्रकाश – संश्लेषण की क्रिया के दरम्यान ऑक्सीजन मुक्त करते हैं ।
  • 2. पेड़ – पौधे पर्यावरण को संतुलित बनाए रखते हैं ।
  • 3. पेड़ – पौधे विभिन्न जीवों को आश्रय प्रदान करते हैं ।
  • 4. पेड़ – पौधे भू – क्षरण को रोकते हैं ।
  • 5.पेड़ पौधों से हमें फल – फूल , दवाएँ , इमारती लकड़ियाँ आदि मिलते हैं ।

अब इन वाक्यों पर गौर करें

  • 1. पेड़ – पौधे प्रकाश संश्लेषण की क्रिया के दरम्यान ऑक्सीजन मुक्त करते हैं ।
  • 2. वे पर्यावरण को संतुलित बनाए रखते हैं ।
  • 3. वे विभिन्न जीवों को आश्रय प्रदान करते हैं ।
  • 4. वे भू – क्षरण को रोकते हैं ।
  • 5. उनसे हमें फल – फूल , दवाएँ , इमारती लकड़ियाँ आदि मिलते हैं ।

आपने क्या देखा ? प्रथम पाँचों वाक्यों में संज्ञा ‘ पेड़ – पौधे ‘ दुहराए जाने के कारण वाक्य भद्दे हो गए जबकि नीचे के पाँचों वाक्य सुन्दर हैं । आपने यह भी देखा कि ‘ वे ‘ और ‘ उनसे ‘ पद पेड़ – पौधे ‘ की ओर संकेत करते हैं ।

अतएव , सर्वनाम वैसे शब्द हैं , जो संज्ञा के स्थान पर प्रयुक्त होते हैं ।

उक्त वाक्यों में ‘ वे ‘ और ‘ उनसे ‘ सर्वनाम हैं ।

मूलतः सर्वनामों की संख्या ग्यारह है-

मै , तू , आप , यह , वह , जो , सो , कौन , क्या , कोई और कुछ ये सभी मौलिक सर्वनाम कहलाते हैं । जब इन पर कारक चिह्नों का प्रभाव पड़ता है , तब ये यौगिक रूप बन जाते हैं । जैसे

  • मौलिक सर्वनाम : मैं
  • यौगिक सर्वनाम : मैंने , मुझे , मुझको , हमें , हम , हमको , मेरा , मेरे , मेरी , मुझमें , मेरे लिए इत्यादि ।

नोट : सर्वनाम के यौगिक रूपों की चर्चा कारक – प्रकरण में हो चुकी है ।

नीचे लिखे वाक्यों के खाली स्थानों में कोष्ठक में दिए गए सर्वनामों के यौगिक रूपों को भरें-

1 . ……..लड़के का व्यवहार बहुत अच्छा नहीं है । ( वह )

2. क्या मैं …….. नाम और पता जान सकता हूँ ? ( आप )

3. ……आपका नमक खाया है , गद्दारी कैसे करूँगा । ( मैं )

4. ……..लगता है कि वह स्टेशन पर ही ठहर गया है ।( मैं )

सर्वनाम के भेद

सर्वनाम छह प्रकार के होते हैं-

1. पुरुषवाचक सर्वनाम :

” जिस सर्वनाम का प्रयोग स्त्री एवं पुरुष दोनों के लिए किया जाता है , ‘ पुरुषवाचक सर्वनाम ( Personal Pronoun ) कहलाता है ।

” सर्वनाम का अपना कोई लिंग नहीं होता है । इसके लिंग का निर्धार क्रियापद से ही होता है । पुरुषवाचक सर्वनाम के अंतर्गत मैं , तू , आप , यह और वह आते हैं ।

नीचे लिखे उदाहरणों को देखें –

  • मैं फिल्म देखना चाहता हूँ । ( पुं ०)
  • मैं घर जाना चाहती हूँ । ( स्त्री )
  • तू कहता है तो ठीक ही होगा । ( पुं ०)
  • तू जब तक आई तब तक वह चला गया । ( स्त्री )
  • आजकल आप कहाँ रहते हैं ? ( पुं ० )
  • आप जहाँ भी रहती हैं खुशियों का माहौल रहता है । ( स्त्री )

पुरुषवाचक सर्वनामों की तीन स्थितियाँ ( भेद ) होती हैं –

1. उत्तमपुरुष : जिस सर्वनाम का प्रयोग बात कहनेवाले के लिए हो । जैसे –

मैं कहता हूँ कि नदियों सूखती जा रही हैं ।

इसके अंतर्गत ‘ मैं ‘ और ‘ हम ‘ आते हैं ।

2. मध्यम पुरुष : जिस सर्वनाम का प्रयोग उसके लिए हो , जिससे कोई बात कही जाती है । इसके अन्तर्गत तू , तुम और आप आते हैं । जैसे –

मैंने आपसे कहा था कि वह बीमार नहीं है ।

3. अन्यपुरुष : जिस सर्वनाम का प्रयोग उसके लिए हो जिसके विषय में कुछ कहा जाता है । जैसे –

मैंने ( उत्तम पु ०) आपको( मध्यमपु ०) बताया था कि वह पढ़ने में बहुत तेज है । ( अन्य पु ०)

पुरुषवाचक सर्वनामों के संज्ञा की तरह दो वचन होते हैं । नीचे दी गई तालिका को देखें –

कारकउत्तम पुरुष
एकवचन – बहुवचन
मध्यम पुरुष
एकवचन – बहुवचन
अन्य पुरुष
एकवचन – बहुवचन
कर्तामैं – हमतु – तुमयह / वह – ये / वे
कर्ममुझे / मुझको – हमें /हमकोतुझे / तुझको – तुम्हें / तुमकोइसे / इसको / उसे / उसको – इन्हें / इनको / उन्हें /उनको
संबंधमेरा / मेरे – हमारा / हमारेतेरा / तेरे – तुम्हाराइसका / उसका /इसके / उसके – इनका / उनका / इनके / उनके
मेरी – हमारी तेरी – तुम्हारे / तुम्हारीइसकी / उसकी – इनकी / उनकी

2. निजवाचक सर्वनाम

” जिस सर्वनाम का प्रयोग कर्ता कारक स्वयं के लिए करता है , उसे ‘ निजवाचक सर्वनाम ‘ ( Reflexive Pronoun ) कहते हैं । ” इसके अंतर्गत आप , स्वयं , खुद , स्वतः आदि आते हैं ?

नीचे लिखे उदाहरणों को देखें-

आप कहाँ से आ रहे हैं ?

विश्लेषण : इस वाक्य में ‘ आप ‘ का प्रयोग किसी पुरुष के लिए होने के कारण यह पुरुषवाचक के अंतर्गत है । मैं आप चला जाऊँगा । विश्लेषण : यहाँ ‘ मैं ‘ कर्ता ने ‘ आप ‘ का प्रयोग स्वयं के लिए किया है । इस कारण यह निजवाचक के अंतर्गत आएगा ।

3. निश्चयवाचक सर्वनाम

” जिस सर्वनाम से किसी वस्तु या व्यक्ति अथवा पदार्थ के विषय में ठीक – ठीक और निश्चित ज्ञान हो , ‘ निश्चयवाचक सर्वनाम ( Demonstrative Pronoun ) कहलाता है ।

‘ इस सर्वनाम के अन्तर्गत ‘ यह ‘ और ‘ वह ‘ आते हैं । ‘ यह ‘ निकट के लिए और ‘ वह ‘ दूर के लिए प्रयुक्त होते हैं ।

नोट : ‘ यह ‘ और ‘ वह ‘ पुरुषवाचक सर्वनाम भी हैं और निश्चयवाचक भी । नीचे दिए गए उदाहरणों और विश्लेषणों को देखें :

आजकल यह कुछ नहीं खाता पीता है ।

वह एकबार फिर दौड़ – प्रतियोगिता में दूसरे स्थान पर रहा ।

विश्लेषण : उक्त दोनों वाक्यों में ‘ यह ‘ और ‘ वह ‘ का प्रयोग पुरुषों के लिए होने के कारण दोनों पुरुषवाचक के अंतर्गत आएँगे ।

यह गाय है । वह बिलायती चूहा है ।

विश्लेषण : उपर्युक्त दोनों वाक्यों में ‘ यह ‘ गाय की निश्चितता के लिए और ‘ वह ‘ चूहे की निश्चितता के लिए प्रयुक्त होने के कारण दोनों निश्चयवाचक सर्वनाम के अंतर्गत आएँगे ।

4. अनिश्चयवाचक सर्वनाम :

” वह सर्वनाम , जो किसी निश्चित वस्तु या व्यक्ति का बोध नहीं कराए , ‘ अश्चियवाचक सर्वनाम ‘ ( Indefinite Pronoun ) कहलाता है ।

” इस सर्वनाम के अंतर्गत ‘ कोई ‘ और ‘ कुछ ‘ आते हैं । जैसे-

आपके घर पर कोई आया है । कुछ दे दीजिए । कुछ काम करो ।

5. प्रश्नवाचक सर्वनाम ” जिस सर्वनाम का प्रयोग प्रश्न करने के लिए किया जाय , ‘ प्रश्नवाचक सर्वनाम ‘ ( Interrogative Pronoun ) कहलाता है ।

” इसके अंतर्गत ‘ कौन ‘ और ‘ क्या ‘ ये दो सर्वनाम आते हैं । ‘ कौन ‘ का प्रयोग सदैव सजीवों के लिए और ‘ क्या ‘ का प्रयोग निर्जीवों के लिए होता है । जैसे –

देखो तो कौन आया है ?

आपने क्या खाया है ?

6. संबंधवाचक सर्वनाम :

” जिस सर्वनाम से एक शब्द या वाक्य का दूसरे शब्द या वाक्य से संबंध जाना जाता है , उसे ‘ सबंधवाचक सर्वनाम ‘ ( Relative Pronoun ) कहते हैं ।

” इसके अंतर्गत ‘ जो ‘ और ‘ सो ‘ आते हैं । अब ‘ सो ‘ के स्थान पर ‘ वह ‘ का प्रयोग होने लगा है ।

नीचे लिखे वाक्यों को देखें –

जो जागेगा सो पावेगा , जो सोवेगा सो खोवेगा ( पु ० हिन्दी ) जो जागेगा वह पाएगा , जो सोएगा वह खोएगा । ( आ ० हि . ) जो के अन्य रूप भी होते हैं । जैसे-

जिसका , जो कि , जिसको , जिन्होंने , जिनके आदि ।

Leave a Reply